Thursday, 3 December 2015

समस्याएं इतनी ताक़तवर
नहीं हो सकती जितना हम
इन्हें मान लेते हैं ,
कभी सुना है,
कि
" अंधेरों ने सुबह ही ना होने दी हो ":)
-Twitter (@anupamkher)

0 comments:

Post a Comment